Horoscope Tips of Venus transit in Virgo in hindi


Venus Horoscope, शुक्र

शुक्र का कन्या राशि में गोचर काल भ्रमण के दौरान फल ‘

चंद्र राशि के अनुसार 

शुक्र ग्रह को ज्योतिष शास्त्र में सौम्य ग्रहों की श्रेणी में स्थान दिया हुआ है। 10 सितम्बर को यह ग्रह प्रातः 01: 24 बजे सिंह राशि से निकलकर कन्या राशि में प्रवेश करेगा। एक राशि में इसका भ्रमण 23 दिन का होता है।  शुक्रवार 04 अक्टूबर 2019 प्रातः 04: 56 बजे तक रहेगा। इसके बाद यह अपनी तुला राशि में प्रवेश करेगा। अपनी नीच राशि कन्या में भ्रमण काल के दौरान शुक्र का विभिन्न राशियों के जातकों पर शुभ – अशुभ प्रभाव पड़ना लीजिमी है।

वर्तमान में कन्या राशि में कोई ग्रह स्थित नहीं है। लेकिन 11 सितम्बर को कन्या राशि का स्वामी बुध भी अपने मित्र शुक्र के साथ अपनी राशि में प्रवेश करेगा। जिस कारण शुक्र का नीच भंग होगा। यानी कि शुक्र ग्रह इस राशि में उच्च राशि का फल देगा। जिसके फलस्वरूप शुक्र संबंधित सभी सुख विषय में लोगों को दाम्पत्य सुखों में वृद्धि, कामुकता में वृद्धि, अलगाव या दूर रहने की अवस्था में नजदीक आएंगे,और रिश्तों में गर्माहट आएगी। कला संबंधित लोगों की कला में निपुणता व शौहरत, धन में वृद्धि, अभिनेता, अभिनेत्री, कोरियोग्राफर, फैशन -डिजाइनिंग, संगीतकार, पेंटर, परफ्यूम, होटल रेस्टॉरेंट के मालिक, टूर एंड ट्रैवेलिंग वस्त्र विक्रेता, सिनेमा थिएटर से संबंधित लोगों को धन में वृद्धि, वाहन सुख आदि में वृद्धि होगी। अविवाहित होने की सूरत में विवाह, परिवार में शुभ समारोह, प्रेमियों में रोमांस आदि की वृद्धि होगी।  

कन्या राशि के शुक्र ग्रह के भ्रमण काल के दौरान बाजार पर प्रभाव :

सौंदर्य प्रशाधन (कॉस्मैटिक), रुई, कपास डेकोरेशन संबंधित सामग्री, रेशमी वस्त्र, म्यूजिक संबंधित यंत्र, मीडिया और ग्लैमर और इत्र संबंधित शेयरों में तेजी देखने को मिल सकती है। 

विभिन्न राशियों  जातकों पर क्या होंगे इसके प्रभाव, जानते हैं।

(Aries Horoscope) मेष राशि —

(Aries Horoscope)

इस राशि के जातक इन दिनों दाम्पत्य सुखों में वृद्धि, व एक्सट्रा मैरिटल रिलेशन में रिश्तों में गर्माहट आएगी।

मन में प्रसन्नता, अच्छे वस्त्रों का शौक, संगीत से लगाव आदि सुखों में वृद्धि होगी।

(Taurus Horoscope) वृष राशि –

(Taurus Horoscope) वृष राशि --

अपनी इस राशि से पंचम में स्थित शुक्र होने से संतान से लाभ होगा। संतान का सुख प्राप्त होगा। बुद्धि, ज्ञान में वृद्धि होगी। मान सम्मान में प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी।

(Gemini Horoscope) मिथुन राशि — 

अपने मित्र बुध की इस राशि से शुक्र चतुर्थ स्थान में होने से नए वाहन की प्राप्ति, माता की सेहत अच्छी, व माता से लगाव, घर परिवार में सुख, नए घर की प्राप्ति आदि सुखों की प्राप्ति होगी। 

Cancer Horoscope) कर्क राशि —

इस राशि से तृतीय स्थान  शुक्र से भाई – बहनों से सहयोग मिलेगा। आपसी प्यार में वृद्धि होगी। किसी कार्य के लिए मेहनत के फलों में वृद्धि होगी। पराक्रम में वृद्धि व सम्मान बढ़ेगा।

(Leo Horoscope) सिंह राशि —

इस राशि से दूसरे स्थान में होने से वाणी में मिठास, परिवार से सहयोग, धन में वृद्धि आदि की प्राप्ति होगी।

(Virgo Horoscope) कन्या राशि —

(Virgo Horoscope) कन्या राशि --

इस राशि में शुक्र की उपस्थिति से मन में प्रसन्नता, अच्छे वस्त्रों व इत्र का शौक मान सम्मान में वृद्धि, विपरीत लिंग के आकर्षण का केंद्र, व संबंध बनना, कामुकता में वृद्धि, दाम्पत्य सुख में वृद्धि आदि कई सुखों की प्राप्ति होगी।

(Libra Horoscope) तुला राशि —

अपनी इस राशि से द्वादश में होने से विभिन्न सुखों में जैसे कि विपरीत लिंग से प्रीति, भोग विलास में वृद्धि, धन व शयन सुख, दाम्पत्य सुख में रिश्तों में गर्माहट व विदेश भ्रमण व धन की प्राप्ति जैसे सुख प्राप्त होंगे।

(Scorpio Horoscope) वृश्चिक राशि —

इस राशि से एकादश में होने से बड़े भाइयों से सहयोग, आय में बढ़ोतरी होगी।

(Sagittarious Horoscope) धनु राशि –

इस राशि से दशम स्थान में स्थित होने से नई जॉब की प्राप्ति, बिजनेस / कॅरियर से लाभ व नए कारोबार की प्राप्ति होगी। सरकार

से विभिन्न लाभों की प्राप्ति होगी।

(Capricorn Horoscope) मकर राशि –

इस राशि से नवम स्थान में स्थित होने से भाग्य में वृद्धि, परिवार में बुजुर्गों से सहयोग, ब्राह्मणों से आशीर्वाद,परिवार में शुभ समारोह, हवन, यज्ञ आदि होंगे। मान-प्रतिष्ठा में, सरकार से लाभ की प्राप्ति होगी।

(Acquarius Horoscope) कुम्भ राशि —

इस राशि से अष्टम स्थान में होने से गुप्त रोगों से पीड़ित होंगे। स्त्री से वियोग या अपमान, अपयश की प्राप्ति और धन हानि जैसी

विपरीत स्थिति से जूझना पड़ सकता है।

(Pisces Horoscope) मीन राशि —

इस राशि से सप्तम में होने से अविवाहित होने की सूरत में विवाह होगा। स्त्री सुख में वृद्धि व प्राप्ति, स्त्री जातक से सहयोग, बिजनेस/ कॅरियर में पार्टनर और उसके संबंधियों से लाभ की प्राप्ति होगी।    

Advertisements
%d bloggers like this: