उम्र कौन सी सही है, भविष्य की फाइनेंशियल जरूरतों के लिए .. ?


पीटीआई मुंबई की एक सर्वे के अनुसार केवल ३३ % भारतीय ही सेवानिवृत्ति के लिए नियमित रूप से बचत करते हैं। इसके अलावा कई लोग अपने सुरक्षित

भविष्य की सेविंग प्लानिंग की उम्र को लेकर असमंजस में रहते हैं। याद रहे पैसा बचना आसान नहीं है। कई बार घर में ही अचानक खर्चे आ जाने की वजह से बचत खाते पर प्रभाव पड़ता है।
सवाल जहन में कई बार ये आता है, मेरे लिए कौन सी उम्र से भविष्य को सुरक्षित बनाने के लिए सेविंग करना सही रहेगा। इसका उत्तर भी आपको स्वंय खोजना होगा। यदि आप २३ साल की उम्र में अच्छी जॉब या बिज़नेस से इनकम करनी शुरू कर देते हैं, तो ये एकदम सही उम्र है, जब आप अपने फ्यूचर को सुरक्षित बनाने के लिए अपनी इनकम के हिसाब से सही प्लानिंग बनानी शरू कर सकते हैं। यदि जॉब में हैं, तो पीएफ में हर माह सेलेरी में से आपके पैसे जाते ही हैं। इसके अलावा भी आप सेविंग की एक्स्ट्रा प्लानिंग की कोशिश जरूर करें। याद रहे यही सेविंग आपके

बच्चों की हायर एजुकेशन के लिए काम आने वाली है। इस बात का ध्यान रहे की लोन यदि घर आदि के लिए ले रहे हैं, जरूरत के हिसाब से लें। यदि आपके पास जॉब – समय से अतिरिक्त समय है, तो उसमें अपनी स्किल से संबंधित एक्स्ट्रा कार्य कर सकते हैं। इससे आपके लोन की इएमआई के पैसों की भरपाई होने में मदद मिलेगी। यदि आप अपने बच्चों की आगे की पढ़ाई के लिए इन्वेस्ट करने जा रहे हैं :

यदि आप एक या अधिक बच्चों के लिए कॉलेज फंड, हायर एजुकेशन के लिए के लिए बचत कर रहे हैं, तो आपके बच्चे के कॉलेज जाने की उम्र आदि को लेकर बचत प्लान बनाएं। दुनिया के जाने माने फाइनेंशियल एक्सपर्ट की यही राय है, कि क्रेडिट कार्ड सबसे खराब इन्वेस्टमेंट है। यदि आप इससे बचे रहेंगे तो एक समझदारी वाला कदम होगा। २२ वर्ष की उम्र से ३० वर्ष की में आप एक अच्छी इनकम पा रहे हैं,, तो अपनी वित्तीय स्थति को मजबूत करने की सही उम्र मानी जाएगी। इस उम्र में सैटल्ड युवक अच्छी आय प्राप्त कर सकता है। इसके बाद धीरे – धीरे अपनी सेविंग को बढ़ाने का काम करें। इसके लिए आप एलआईसी की अपनी आय के हिसाब से कोई अच्छी पालिसी ले सकते हैं।
ज्यादतर बैंकर्स यही सलाह देते है, कि आप अपनी आय का ३० प्रतिशत से गुणा करके गणना करें कि आपको कितनी बचत करने की आवश्यकता है। उदाहरण के लिए, यदि आपको ८० प्रतिशत प्रतिस्थापन आय की आवश्यकता है तो आपको अपनी वार्षिक आय का २४ प्रतिशत सेवानिवृत्ति पर (८० प्रतिशत ३० प्रतिशत) बचाना चाहिए। इसके लिए एक समय निर्धारित कर लें। यदि आप निर्धारित समय पर अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए सुझाए गए बचत

न्यूनतम को पूरा करने में सक्षम नहीं हैं, तो अपने बजट की समीक्षा करें जहाँ भी संभव हो। यदि आवश्यक हो तो अल्पावधि में अतिरिक्त कार्य करने पर विचार करें।
कम्पाउंड इंटरेस्ट :
सेल्फ मेड बिलिनेयर ग्रांट सबेटियर अपनी बुक फाइनैंशियल फ्रीडम में लिखा है, कि अप्पकी उम्र जितनी कम होगी, आपके पास आर्थिक रूप से आगे बढ़ने के उतने ही चांस उपलब्ध होंगे। इसीलिए लगातार सेविंग और सही इन्वेस्टमेंट आपकी नेट बर्थ लगातार बढ़ती जाएगी, और ये कम्पाउंडिंग की वजह और भी तेजी से बढ़ेगी।
यदि आप भविष्य में पांच साल से अधिक समय तक नॉन-रिटायरमेंट लक्ष्य के लिए बचत कर रहे हैं, तो एक बचत बांड
पर विचार करें, जो आम तौर पर सुरक्षित हैं और बैंक बचत खातों की तुलना में बेहतर दर है।
यदि आप म्यूचुअल फंड में पैसा लगा रहे हैं, तो इसके लिए किसी अच्छे एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। क्योंकि इसमें पैसा इन्वेस्ट करना जोखिम भरा फैसला हो सकता है, क्योंकि इसमें बाजार का रिस्क जुड़ा होता है। इससे अच्छा आप किसी बैंक में आरडी खुलवा कर सही निर्णय लेंगे। आरडी की मैच्योर राशि को एफडी में कन्वर्ट करवाना भी सही विकल्प होगा।
यदि आप बच्चों के साथ साल की छुटियों में कहीं घूमने जाने की प्लानिंग बनाना चाहते हैं, तो इसके लिए कोई अल्पकालिक बचत की प्लानिंग बना सकते हैं। इसके लिए आरडी अच्छा विकल्प है।
यदि आप एमएनसी में जॉब कर रहे हैं :

आप बचत, बोनस और टैक्स रिफंड को तुरंत खर्च करने के बजाय बचत में लगाकर बचत करना आसान बना सकते हैं।

Advertisements
%d bloggers like this: