गर्मी में स्वाद के साथ हेल्दी ड्रिंक्स से बुझाएं प्यास


गर्मियों में बनाये जाने वाली कुछ ठंडे पेय….

गर्मी उफान पर है, यानी की अपने यौवन पर है। ऐसे में बार – बार प्यास लगना भी लाजिमी है। प्रकृति ने हर मौसम के लिहाज से इस मौसम में भी कुछ ऐसे फ्रूट्स और जड़ी बूटी मुहैया कराये हैं, जिनमें पानी के साथ जरूरी  मिनरल्स भी उपलब्ध होते हैं।  ऐसे में हम इन फलों से कुछ ड्रिंक्स बना सकते हैं, जिनसे

हमारे शरीर को  जरूरी पोषक तत्वों की पूर्ति भी हो जाएगी। और बार- बार प्यास भी नहीं लगेगी। यहां पर हम ऐसे ही कुछ ड्रिंक्स के बारे में बता रहे हैं।

    ड्रिंक्स के लिए हेल्दी विकल्प ही खोज़ना प्रेफर करें

    जब भी हम बाहर से गर्मी  में आते हैं, तो घर आकर कुछ ठंडा पीते हैं। ऐसे में कई बार लोगों को सर्दी-गर्मी हो जाती है, जिसके चलते उन्हें कई बीमारियां अपनी चपेट में ले लेती हैं। एकदम से कुछ भी ठंडा पीना सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है।

गर्मियों का मौसम एक ऐसा मौसम होता है, जब सभी का दिल कोई भी ठंडी ड्रिंक पीने का करता है। बाहर गर्मी में हमारे शरीर में डीहाइड्रेशन होने लगता है, जिसकी वज़ह कम पानी पीना हो सकता है। इसलिए यह जानना बेहद ज़रूरी है कि हमारे शरीर को कब और कितने समय में हाईड्रेट करना ज़रूरी है। कई ऐसे विकल्प हैं, जिनकी मदद से आप यह कार्य कर सकते हैं। यह हेल्दी होने के अलावा औषधीय गुण से भरे हैं। कोई भी परिवर्तित ड्रिंक पीने की जगह अगर आप इन ड्रिंक्स को तैयार करके पैक करें, तो बाहर की गर्मी से छुटकारा पा सकते हैं।

मार्केट में मिलने वाली ड्रिंक्स में भारी मात्रा में चीनी और कैलोरी होती है, और पोषक तत्व कम होते  हैं, थोड़ी-थोड़ी देर में पानी पीते रहे, बैग में फल और पानी युक्त सब्जियों को रखें जैसे खीरा, नींबू और खट्टे फल आदि।गर्मियों के

मौसम में दही भी काफी अच्छा विकल्प है। यह सभी चीज़ें आपके शरीर के आंतरिक सिस्टम को ठंडा रख पाचन क्रिया में काफी मददगार साबित होंगी। तो चलिए आपको बताते हैं कुछ ऐसी ही रेसिपी, जो आपकी प्यास को बुझाते हुए शरीर के लिए हेल्दी रहेंगी।

जों का सत्तू : जों ठंडी होती है। दो से तीन चम्मच सत्तू को ठंडे पानी में अच्छे से मिलाकर उसमें शकर अपने स्वाद के अनुसार मिलाकर पियें। इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर और पोषक तत्व होने से शरीर में शीतलता के साथ-साथ  प्यास भुजाता है। यूँ आप इसे दिन में दो बार ले सकते हैं।

खीरे का जूस :

गर्मियों में सबसे ज़्यादा पसंद की जाने  खीरे को आप सलाद के अलावा, आप मिक्सर में डालकर निम्बू, अदरक डालकर पियें। ये शरीर में ठंडक के अलावा

पानी की भी पूर्ति करेगा। खीरे के बीजों की गिनती चार मगज में आती है।इसीलिए यह पेट के हाजमें को दुरुस्त करता है।

2. आम पन्ना :

फलों का राजा आम से आप एक लज़ीज़ ड्रिंक बना सकते हैं, वह है आपका पसंदीदा आम पन्ना। देसी आम को एक विधि के हिसाब से तैयार करके आप इस ड्रिंक का मज़ा ले सकते हैं। आम पन्ना जिसकी डिमांड गर्मियों में बहुत होती है।

ये गर्मियों में न केवल लू से  बचाता है, बल्कि हाजमे  को अच्छा रखता है। इसके नियमित सेवन से शरीर में कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल होता है, जिससे  हार्ट  टैक की संभावनाएं कम हो जाती हैं।

 ४..  गिलास – ४

आवश्यक सामग्री :

      कच्चे आम, मध्यम साइज के

      काली मिर्च पाउडर – 1/4 छोटा चम्मच।

आम का पना बनाने की विधि :

आम का पन्ना रेसिपी को हम दो तरह से प्रिपेयर कर सकते हैं, एक तो आम को कंडे यानी उपले की राख में भूनकर और दूसरा कच्चे आम को उबाल कर।

अगर आप के पास कंडे उपलब्ध हैं, तो उन्हें जला कर दहका लें। जब कंडे पूरी तरह से जल जाएं और राख बन जाएं, उन्हें तोड़ लें और उसके बीच में कच्चे आमों को दबा दें। लगभग 10 मिनट में आम भुन जाएंगे। इसके बाद आम को आग से निकाल कर ठंडा कर लें। फिर आम का गूदा निकाल लें और उसे शक्कर, काला नमक और पुदीना के साथ पीस लें। लेकिन यदि आपके पास कंडे उपलब्ध नहीं हैं, तो बेहतर है कि आम को उबालकर पना बनाएं। इसके लिए पहले आम को छील कर धो लें।

इसके बाद आमों को बीच से काट कर गुठली अलग कर दें। अब आम के गूदे को एक कप पानी के साथ किसी बर्तन में रख कर उबाल लें। उबले हुए गूदे को शक्कर, काला नमक और पुदीना के साथ मिक्सर में डालें और महीन पीस लें। पिसे हुए मिश्रण को छान लें और एक लीटर पानी में मिला दें। साथ ही उसमें काली मिर्च और भुना हुआ जीरा पाउडर भी डाल दें।

लीजिए आपकी आम का पना बनाने की विधि कम्प्लीट हुई। अब आपका आम पना  तैयार है। इसे सर्विंग गिलास में निकालें और बर्फ के टुकड़ों के साथ सर्व करें।

आवश्यक सामग्री

तरबूज – 2 नग (मीडियम साइज),

नींबू – 1

बर्फ के टुकड़े – 1 कप,

शक्कर – स्वादानुसार

तरबूज का शरबत बनाने की विधि :

वाटरमेलन जूस के लिए सबसे पहले तरबूज को धो  लें। फिर उसे काट कर उसका

लाल वाला गूदा एक बर्तन में निकाल लें। बाकी का भाग फेंक दें। अब तरबूज के पके हुए गूदे के छोटे-छोटे पीस कर लें। साथ ही तरबूज के बीजों को अलग कर दें। अब तरबूज के टुकड़ों को मिक्सर में डालें और अच्छी तरह से मिक्स कर लें।

अब तरबूज के जूस को एक बाउल में निकाल लें और उसे छान लें।

अब नींबू को काट कर उसका जूस तरबूज के जूस में निचोड़ लें। आप चाहें तो थोड़ी सी सी शक्कर भी इसमें डाल लें, और चलाकर घोल लें।

लीजिए,  अब आपका स्वादिष्ट तरबूज का शेक तैयार है। बस इसे गिलास में निकालें  और आइस क्यूब्स डाल कर सर्व करें।

अब हम गर्मियों में शरीर को ठंडक देने वाला बेल (Wood Apple) का शर्बत बनाने के बारे में बताते हैं।

बेल में प्रोटीन, फाॅस्फोरस, कार्बोहाइड्रेट, आयरन, कैल्शियम, फाइबर, विटामिन सी, विटामिन बी पाया जाता है। यह पेट के लिये फायदेमंद होता है। बेल शरबत  शरीर को ताज़गी से भर देता है। यह पाचन को ठीक करता है, कब्ज को दूर करता है। बेल शरबत  शरीर को ठंडक प्रदान करता है और लू से बचाता है।

बेल का शरबत बनाने की विधि :

  ४ गिलास

बेल के फल – 2

शक्कर – 5 बड़े चम्मच,

भुना जीरा  – 1 छोटा चम्मच,

सेंधा नमक/नमक  – 1 छोटा चम्मच।

बेल का छिलका हार्ड होता है। इसको आप सावधानी से किसी सख्त चीज से तोड़

लें। और एक बाउल में उसका गूदा निकाल लें। इसके बाद गूदे से लगभग 2 गुना पानी डालें और अच्छी तरह मसलें, जिससे पूरा गूदा पानी में घुल जाए। इसके बाद बेल के घोल को एक मोटे छेद वाली चलनी से छान कर फल के रेशे वगैरह निकाल दें। अब छने हुए रस में शकर डालें और उसे घोल लें। उसके बाद सेंधा नमक और भुना जीरा मिलाएं और अच्छी तरह से चला दें। लीजिए बेल का शरबत पीने  के लिए तैयार है।  इसे सर्विंग गिलास में निकालें और आइस क्यूब डाल कर सर्व करें। लें। और एक बाउल में उसका गूदा निकाल लें। इसके बाद गूदे से लगभग 2 गुना पानी डालें और अच्छी तरह मसलें, जिससे पूरा गूदा पानी में घुल जाए। इसके बाद बेल के घोल को एक मोटे छेद वाली चलनी से छान कर फल के रेशे वगैरह निकाल दें। अब छने हुए रस में शकर डालें और उसे घोल लें। उसके बाद सेंधा नमक और भुना जीरा मिलाएं और अच्छी तरह से चला दें। लीजिए बेल का शरबत पीने  के लिए तैयार है।  इसे सर्विंग गिलास में निकालें और आइस क्यूब डाल कर सर्व करें।

मसाला छाछ :

गर्मियों  के मौसम में शरीर का पानी तेजी से सूखता है, जिसको बनाए रखने के लिए शरीर को ज्यादा मात्रा में रिफ्रेशमेंट ड्रिंक्स  की ज़रूरत होती है। ऐसे में

मसाला छाछ या पुदीना छाछ बेहद काम आता है। इसे आप भोजन के साथ भी ले सकते हैं और कोल्ड ड्रिंक के रूप  में भी। ताजे दही से बनी पुदीना छाछ पीने से

पेट का भारीपन, बदहजमी, भूख न लगना, अफारा, अपच व पेट की जलन जैसी समस्याएं दूर होती है। तो फिर सोच क्या रहे हैं, झटपट मसाला छाछ बनाएं, और पी जाएँ। आप खुद महसूस करेंगे कि चमत्कार हो गया।

मसाला छाछ बनाने की विधि :

 4 गिलास

आवश्यक सामग्री :

मट्ठा  – 2 कप,

दही – 1/2 कप,

पुदीना पत्तियां – 2 बड़े चम्मच,

भुना जीरा  1 छोटा चम्मच,

भुना जीरा पाउडर – 1/2 छोटा चम्मच,

काला नमक  Black salt – 1/2 छोटा चम्मच,

काली मिर्च पाउडर – 1/2 छोटा चम्मच,

कुटी हुयी बर्फ  – 1 कटोरी,

सेंधा नमक – स्वादानुसार।

सबसे पहले पुदीना की पत्तियों को अच्छी तरह से साफ करके धो लें।

इसके बाद मिक्सर में पुदीना पत्तियां, मट्ठा, दही, भुना जीरा, काली मिर्च, काला नमक और नमक डालें और महीन पीस लें।

अब इसे किसी बर्तन में निकालें और उसमें एक गिलास पानी डालकर अच्छी तरह से मिला लें।

लीजिए स्वादिष्ट व हाजमेदार  पुदीना छाछ या मसाला छाछ पीने के लिए तैयार है। 

अब छाछ को सर्विंग गिलास में निकालें और ऊपर से कुटी हुयी बर्फ और जीरा पाउडर डालकर पियें।

Advertisements
%d bloggers like this: