कहीं बढ़ तो नहीं रहा आपका वजन, वो भी डाइट कंट्रोल और वर्कआउट के बाद भी…?


कहीं बढ़ तो नहीं रहा आपका वजन, वो भी डाइट कंट्रोल और वर्कआउट के बाद भी…? कई बार हम देखते हैं कि जब हमारा वजन यदि एक बार बढ़ जाये तो हम चाहे लाख यत्न कर लें, वो बजाय कम होने के, लगातार बढ़ता जाता है। कई बार तो आजीवन संघर्ष ही करते जाते हैं। इसमें वो डाइटिशियन से भी मिलकर, डाइट

चार्ट का कड़ाई से पालन करने के बाद भी वजन कम होने का नाम नहीं लेता। ऐसा क्यों होता है ? मेयो क्लिनिक की एक स्टडी में ताजा रिपोर्ट के बाद ऐसा इसीलिए होता है, इससे ग्रस्त मोटापे के रोगी सारे यत्न करने के बाद रात को भरपूर नींद नहीं लेते। एक ब्यस्क ब्यक्ति के लिए कम से कम ७ से ८ घंटे की नींद न लेने से ही वजन कम नहीं होता।

हमारे शरीर में वजन से रिलेटेड हार्मोन्स के लेवल का बिगड़ना, मुख्य कारण है। जो हमारी भूख को नियंत्रण में रखने  का काम करते हैं। नींद की कमी के कारण के कारण इन हार्मोन्स के स्तर में गड़बड़ी होने लगती है। जिससे हमारे शरीर का वजन बढ़ने  लगता है। इनमें सबसे अहम है, घ्रेलिन हार्मोन।  इसे हम हंगर हार्मोन भी कहते हैं। यही हार्मोन अपने नाम के अनुसार हमारी भूख को बढ़ाने का काम  करता है। नींद की कमी के कारण हमारे  शरीर में इस हार्मोन का स्तर

भी बढ़ने लगता हे। और इसी कारण हम अधिक भूख महसूस करने लगते हैं। इसी से हम ज्यादा खाने  लगते हैं, और हमारा वजन बढ़ने  लगता है।

ठीक इसी प्रकार हमारे शरीर में लेप्टिन नामक हार्मोन होता है, जो ‘सटायटी हार्मोन कहलाता है। जो हमारी भूख को शांत करने और शरीर को ऊर्जा को खर्च करने में मदद करता है। लेकिन नींद की कमी के कारण इस हार्मोन का उत्पादन कम होता है।  और इस हार्मोन की कमी के कारण हमें भूख ज्यादा महसूस होती है। जिस कारण हम ज्यादा खाते हैं, और वजन भी बढ़ता है।

नींद के कारण हमारे दिमाग में हाई कैलोरी फ़ूड के लिए अधिक क्रेविंग होती है। एक स्टडी के अनुसार अगर हमारी नींद ठीक से नहीं हो पा रही है, तो हम अमूमन ३०० कैलोरी का ज्यादा सेवन करते हैं। स्टडी के अनुसार यदि एक सप्ताह तक प्रतिदिन हमारी नींद ५ घंटे तक ही होती है, तो इस एक सप्ताह में आपका वजन लगभग ९०० ग्राम तक बढ़ सकता है।

अमेरिकन जर्नल ऑफ़ ह्यूमन बॉयोलॉजी के अनुसार नींद की कमी के कारण वजन बढ़ने के साथ -साथ डॉयबिटीज, ब्लड प्रेशर और ह्रदय रोग का खतरा बढ़ जाता है।

कुछ जरूरी टिप्स नींद आने के लिए :

सोने से पहले कैफीन युक्त पदार्थ जैसे चाय, कॉफ़ी ये नशीले पदार्थों का सेवन बिलकुल न करें। एक्सरसाइज या फिजिकल एक्टिविटी करने से नींद की क्वालिटी अच्छी होती है।  लेकिन सोने से तुरंत पहले एक्सरसाइज न करें।

सोने से तुरंत पहले ज्यादा गरिष्ट भोजन लेने से एसिडिटी, गैस और रिफ्लक्स की प्रॉब्लम हो सकती है, जिससे आपकी नींद खराब हो सकती है।

Advertisements
%d bloggers like this: